top of page

मोटिवेशनल कहानी छोटी सी | SHORT MOTIVATIONAL STORY IN HINDI For Success


मोटिवेशनल कहानी छोटी सी | SHORT MOTIVATIONAL STORY IN HINDI For Success

SHORT MOTIVATIONAL STORY IN HINDI For Success: दोस्तो कुछ हो या न हो लेकिन एक सवाल हर किसी के मन में होता ही है की आखिर मोटिवेशनल स्टोरीज़ पड़ने का या सुनने का क्या फायदा ? लेकिन इसका सीधा सीधा जवाब है की अगर आप मोटिवेशनल स्टोरी पड़ते हैं या सुनते हैं तो आपको कुछ न कुछ नया सीखने को मिलता है और आपको दूसरों की कहानियों से ये जान पाते है कि ऐसी कौन सी गलतियां है जो और लोगो ने की हैं और आपको वो गलतियां नही करनी हैं।


इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसी ही कहानियां बताएंगे जिनमे आपको कुछ न कुछ नया सीखने को मिलेगा।





Short motivational Story in Hindi for success दुनियां सिर्फ तमाशा देखना पसंद करती हैं।


Short motivational Story in Hindi for success : एक बार की बात है एक घर में आग लग गई। घर में से सभी लोगो को निकाला गया मौहल्ले के कुछ लोग आग बुझाने में लग गए तो कुछ लोग सिर्फ देख रहे थे। उसी घर में एक चिड़िया का घोंसला भी था

चिड़िया अपनी चोंच में थोड़ा पानी लाती और आग के ऊपर डाल देती लेकिन आग बुझ ही नही रही थी लेकिन चिड़िया भी रुक नही रही थी वो बस अपनी चोंच में पानी भर कर लाती और आग में डाल देती चिड़िया को बार बार मेहनत करते देख कौवा उसको देख कर हंसने लगा और बोला चिड़िया तू पागल है क्या ?


तुझे क्या लगता है ये घर देख इतना बड़ा है और तेरी चोंच इतनी छोटी है तुझे क्या लगता है तेरे बुझाने से ये आग बुझ जायेगी चिड़िया ने कहा हां मैं जानती हूं कि मेरे बुझाने से ये आग नही बुझेगी लेकिन जब भी इस आग के बारे में बात होगी तब मेरा नाम आग बुझाने वालों में होगा और तेरा नाम तमाशा देखने वालो में होगा।


सीख:

हमारी ज़िंदगी में भी ऐसे बहुत सारे लोग होते है जिनको हमारी Success बुरी लगती हैं वो हमेशा हमारे अंदर कोई न कोई कमी निकालते हैं और अगर हमसे कोई छोटी सी भी गलती हो जाए तो उसका तमाशा बना देते हैं इसलिए हमेशा ऐसे लोगो से दूर रहना ही बेहतर होता है।





Morivational story for students - मोटिवेशनल स्टोरी फॉर स्टूडेंट्स


एक बार एक कॉलेज में चार दोस्त पड़ते थे चारो एक ही क्लास में थे इसलिए इनके बीच की दोस्ती काफी गहरी थी। एक दिन कॉलेज में announcement की गई के कुछ दिन बाद आपका exam लिया जाएगा।


लेकिन ये बात ये चारो दोस्त भूल गए और exam की एक रात पहले ये चारो दोस्त पार्टी के लिए बाहर चले गए।


अगले दिन जब चारो दोस्त कॉलेज गए तो उन्होंने देखा की exam का टाइम ही खतम हो चुका है तब इन चारो दोस्तो ने एक प्लान बनाया और कार का ऑयल अपने कपड़े पर लगाया और अपनी प्रिंसिपल के केबिन में जाकर प्रिंसिपल से कहा हमारी कार का टायर पंचर हो गया था इसलिए हम exam नहीं दे पाए। प्रिंसिपल ने कहा ठीक है तुम कल कॉलेज आना कल तुम्हारा exam ले लिया जाएगा।

चारो दोस्त खुश होकर वहा से निकल गए और ये सोचने लगे की आज तो हम बच गए। इन चारो दोस्तो ने रात भर पढ़ाई की और जब अगले दिन exam देने गए तब इनसे कहा गया की तुम चारो का exam अलग अलग क्लास में लिया जाएगा। चारो दोस्त अलग अलग क्लास में जाकर बैठ गए


लेकिन जब इनके हाथ में question paper आया तब इनकी आंखे खुली की खुली रह गई क्युकी question paper में सिर्फ एक सवाल लिखा था की कार का कौन सा टायर पंचर हुआ था चारो दोस्त हैरान हो गए तब उनको अपनी गलती का एहसास हुआ


सीख:

हमें कभी झूठ नहीं बोलना चाहिए क्युकी अगर आप जिससे झूठ बोल रहे हो और उसको आपके झूठ के बारे में पता है तो आप सिर्फ उसकी नज़रों में ही नही बल्कि अपनी नज़रों में भी बुरे और छोटे बन जाओगे।


best motivational story in hindi - जबरदस्त मोटिवेशनल कहानी


एक बार एक गांव में एक लड़का रहता था जो की हमेशा सपने देखता था लेकिन जब वो अपने सपनो की बाते दूसरो से करता तब सब उसका मज़ाक उड़ाते और उसको समझने वाला कोई नहीं था।


सब उससे यही कहते की ये तुम्हारे सपने पूरे नही हो सकते क्युकी तुम एक छोटे से गांव में रहते हो


उस लड़के को ये सुनकर बहुत ही ज़्यादा गुस्सा आया की क्या हमारे गांव में कोई भी इतना काबिल नहीं है जो हमारे गांव का नाम रौशन का सके


अगर आज तक किसी ने हमारे गांव में सपने नही देखे और सफलता नहीं पाई तो कोई बात नहीं मैं अपने गांव का नाम रौशन ज़रूर करूंगा

लड़के के दोस्त ने लड़के की बात को समझा और उसे बताया कि हमारे गांव के पास में ही एक (library) पुस्तकालय है जहा जाकर उस को कई बातो की जानकारी मिल जाएगी जो वो जानना चाहता है।


उस लड़के ने (library) पुस्तकालय जाकर देखा तो वहा पर अनगिनत किताबे थी और तो और वहा एक दम शांति और हर कोई बस किताबे पड़ रहा था। वो लड़का बहुत ही ज़्यादा खुश हुआ और वो हर रोज़ वहा जाता और किताबे पड़ता उसके लिए अब कुछ भी करना मुश्किल नही था


लेकिन (library) पुस्तकालय से आते वक्त उसने गांव में कुछ बच्चो को देखा जो की उसको देखकर बहुत ही ज़्यादा खुश हो रहे थे लड़के ने बच्चो से पूछा तुम लोग आखिर इतना खुश क्यों हो तब उनमें से एक बच्चा बोला की भाई आज आप अपने सपने पूरे करेने के लिए इतना दूर जाते हो और आप थकते भी नही आप देखना जब हम बड़े हो जायेंगे तो हम भी अपने सपने पूरे करने के लिए उस अनोखी जगह जाएंगे जहा से आपने इतना ज्ञान पाया है अब आपको सफलता मिल कर ही रहेगी ।



लड़का हंसकर बोला सही कहा तुमने मैं अपना सपना ज़रूर पूरा करूंगा लेकिन क्या तुम्हे पता भी है की मेरा सपना क्या है बच्चो ने कहा नही हमे नही पता तब लड़के ने बताया "मैं अपने इसी गांव को शहर की तरह बनाना चाहता हु जैसे शहर में लोग पड़ते लिखते हैं और तरक्की करते हैं वैसे ही हमारे गांव के बच्चे भी तरक्की करेंगे।"

बच्चो ने सवाल पूछा की आखिर ये होगा कैसे लड़के ने जवाब दिया जो भी मैने (library) पुस्तकालय में सीखा है। मैं वो सब कुछ तुम्हे सिखाऊंगा तुम बस मुझे बता दो की तुम बनना क्या चाहते हो। बच्चो ने अपने अपने सपने लड़के को बता दिए अब लड़का रोज़ (library) पुस्तकालय जाता और बच्चो के ज़रूरत की सारी जानकारी एक किताब में चुपके से लिख लेता और बच्चो को वो सब कुछ सिखाता जो उसने अपनी किताब में लिखा है अब लड़का अपना ही नही बच्चो के सपनो के लिए भी मेहनत कर रहा था



कुछ वक्त बाद उस लड़के ने सिर्फ अपना ही नही बल्कि उन बच्चो का भी सपना पूरा किया। ये सब देखकर लड़के के दोस्त ने कहा तेरा सपना तो एक महान (writer) लेखक बनने का था तो तूने इन बच्चो पर अपना वक्त बर्बाद क्यों किया


लड़का बोला तू समझा नहीं जब मैने सपना देखा था एक महान (writer) लेखक बनकर अपने गांव का नाम रौशन करने का और जब मैने सबको अपने सपने के बारे में बताया था तब सबने कहा था कि मुझसे नही हो पाया क्यूंकि मैं छोटे से गांव में रहता हूं। आज देखना इस छोटे से गांव के बच्चे ही अपने सपने पूरे करके इस छोटे से गांव के नाम को बहुत बड़ा बना देंगे और देखना जब ये सफलता पा लेंगे तो इनकी सफलता की कहानी मैं खुद लिखूंगा तब मैं भी एक (writer) लेखक बन जाऊंगा तब होगा मेरा सपना पूरा।


सीख

इस कहानी से हमे सीखने को मिलता है की अगर सफलता पाने के लिए कोई रास्ता न दिखे तो खुद रास्ता बनाना ही बेहतर होता है क्युकी सफलता भी उन लोगो को ही मिलती हैं जो कभी हार नही मानते।






short motivational stories - मन को सुकून देने वाली कहानी


एक बार एक आदमी मछली पकड़ने गया वहा उसने पूरी तरह से मेहनत करी हर एक तरीका आज़माया जिससे वह मछली पकड़ सके लेकिन हर तरीके में वो नाकामयाब रहा। दिन ढलने लगा और शाम हो गई।


अब वो आदमी परेशान होकर ये सोचने लगा कि अब मैं अगर खाली हाथ घर जाऊंगा तो मैं और मेरा परिवार खाएंगे क्या।

चिंता करते करते उसने देखा की वो मछली बाज़ार के पास ही है। वो जल्दी से मछली की दुकान पर गया और बोला "मैं चार मछलियां खरीदूंगा लेकिन मेरी एक शर्त है की आप मुझे मछलियां जिंदा ही देंगे और मैं उन्हें खुद पकडूंगा और फिर खरीदूंगा।


दुकानदार ये सुनकर हैरान रह गया की क्या अजीब आदमी है लेकिन उसने एक बड़ी बाल्टी में पानी भर कर उसमे चार से पांच मछलियां डालदी। आदमी ने एक एक करके चार मछलियां पकड़ी और दुकानदार से कहा ये लो इन मछलियों के पैसे।


दुकानदार से अब रहा नहीं गया उसने आखिर पूछ ही लिया की भाई आप कैसे हो अगर आपको मछलियां चाहिए ही थी तो आप ऐसे ही ले लेते इतना सब करने की क्या ज़रूरत

ये सुनकर उस आदमी ने कहा कि तुम समझे नही अब जब मैं घर जाऊंगा तब मेरा परिवार मुझसे ये सवाल ज़रूर पूछेगा की आपने कितनी मछलियां पकड़ी तब मैं उनसे ये कह पाऊंगा की मैंने चार मछलियां पकड़ी है तब मुझे कोई दुख भी नही होगा कि मैंने कोई झूठ बोला क्युकी ये मछलियां सच में मैने पकड़ी है अब मैं जब कल मछलियां पकड़ने जाऊंगा तो यह सोचकर जाऊंगा की आज मैं नाकामयाब नही होऊंगा


सीख:

ज़िंदगी में आपको असफलता कई बार मिलेगी लेकिन असफलता में कहीं न कहीं सफल होने का रास्ता भी होगा अब ये आप पर निर्भर करता है कि आप असफल होकर ही दुखी रहना चाहते हो या फिर सफलता का रास्ता ढूंढकर खुश होना चाहते हो


अगर आपको motivational story in Hindi पसंद है तो आप हमारी वेबसाइट nazsite  को subscribe ज़रूर करे


   अगर आप किसी आर्टिकल hindi motivation से related कोई भी article हो story, quotes, shayari या फिर biography को हमारी वेबसाइट पब्लिश करना चाहते हैं तो हमारे Email-id : nazsite007@gmail.com पर send करे।


अगर हमे आपका आर्टिकल अच्छा लगा तो हम आपके नाम और फोटो के साथ आपके आर्टिकल को पब्लिश करेगें और फ्यूचर में भी आपके साथ काम करेंगे



59,092 दृश्य2 टिप्पणियां

संबंधित पोस्ट

सभी देखें
bottom of page